ADVERTISEMENT

Commerce Mein Kitne Subject Hote Hain

ADVERTISEMENT

Commerce mein kitne subject hote hain- हर कोई अपने करियर को लेकर चिंतित रहता है और खासकर यदि पढ़ाई के समय से ही इस पर फोकस किया जाए तो आने वाला भविष्य बेहतरीन होता है। दसवीं कक्षा पास करने के बाद अक्सर बहुत सारे स्टूडेंट्स इस कन्फ्यूजन में रहते हैं कि  अगली कक्षा में चलकर कौन से सब्जेक्ट को चुना जाए?

यदि आप बिज़नस और अकाउंट्स इत्यादि में इंटरेस्ट रखते हैं तो कॉमर्स आपके लिए सबसे बेहतरीन विकल्प होगा। यदि आपको यह मालूम नहीं है कि commerce mein kitne subjects hote hai तो आप बिल्कुल निश्चित रहिए, क्योंकि आपको इस लेख में हम विस्तृत रूप से जानकारी देने वाले हैं तो चलिए आगे बढ़ते हैं

ADVERTISEMENT

Commerce Mein Kitne Subject Hote Hain

कॉमर्स subject technical और inter dependent subject होता है। इससे थोड़ा मुश्किल subject माना जाता है, क्योंकि इस सब्जेक्ट में construction अधिक चाहिए होती है। यदि इसमें आप ध्यान पूर्वक काम नहीं करेंगे तो आप अच्छे से टैक्स सेक्शन इत्यादी नहीं सीख पाएंगे।

ADVERTISEMENT

कॉमर्स में पढ़ाई जाने वाले विषयों के बारे में जानने से पहले हम यह जान लेते हैं कि कॉमर्स क्या होता है? कॉमर्स को हिंदी में वाणिज्य कहते हैं।

ADVERTISEMENT

यदि हम सरल शब्दों में समझे, तो धन कमाने के लिए जब वस्तुओं को खरीदा और बेचा जाता है तो वह व्यापार कहलाता है और व्यापार के लिए use होने वाले सहायक जैसे यातायात और बैंक इत्यादि दोनों को मिलाकर वाणिज्य बनता है।

ADVERTISEMENT

दसवीं कक्षा उत्तीर्ण करने के बाद आप 11वीं कक्षा में कॉमर्स सब्जेक्ट का चुनाव करते है तो following सब्जेक्ट होते हैं जो  जरूरी होते हैं:-

  • Accountancy
  • Economics
  • Business study
  • Mathematics
  • English
  • Entrepreneurship
  • Information technology
  • Physical education

कॉमर्स स्ट्रीम के अंतर्गत अनिवार्य विषय

कक्षा 11कक्षा 12
लेखाकर्म (accountancy)लेखाकर्म (Accountancy)
बिजनेस स्टडीज (business studiesअंग्रेज़ी (English)
अर्थशास्त्र (economics)बिजनेस स्टडीज (business studies)
अंग्रेज़ी (English)अर्थशास्त्र (economics)

कॉमर्स स्ट्रीम के अंतर्गत वैकल्पिक विषय

कक्षा 11कक्षा 12
गणित (maths)गणित (maths)
कंप्यूटर विज्ञान (computer science)मनोविज्ञान (psychology)
शारीरिक शिक्षा (physical education)सूचना विज्ञान अभ्यास (informatics practice)
ललित कला (fine arts)शारीरिक शिक्षा (physical education)
सूचना विज्ञान अभ्यास (informatics practice) 
गृह विज्ञान (home science) 
मनोविज्ञान (psychology) 
भाषा अध्ययन (Hindi,German, French) 

 

विद्यालय से 12वीं कक्षा उत्तीर्ण करने के बाद यदि विद्यार्थी ग्रेजुएशन के लिए बीकॉम चुनता है तो बीकॉम में विभिन्न सेमेस्टर पढ़ाए जाते हैं और उन सेमेस्टर में पढ़ाए जाने वाले सब्जेक्ट की सूची निम्न है :-

बीकॉम प्रथम वर्ष विषय सूची

सेमेस्टर Iसेमेस्टर II
व्यापार अर्थशास्त्र-Iव्यापार अर्थशास्त्र – II
प्रबंधकों के लिए अंतःविषय मनोविज्ञानअंग्रेजी और व्यावसायिक संचार
प्रबंधन के सिद्धांत और व्यवहारव्यापार कानून
अंग्रेजी और व्यावसायिक संचारअंतःविषय ई-कॉमर्स
वाणिज्यिक कानूननिगमित लेखांकन
वित्तीय लेखांकन के  सिद्धांत 

ग्रेजुएशन का पहला साल पास करने पर second year बीकॉम में दूसरी बार पढ़ाए जाने वाले सब्जेक्ट की सूची निम्न है:-

बीकॉम द्वितीय वर्ष विषय सूची

सेमेस्टर IIIसेमेस्टर IV
भारतीय वाणिज्य में अंतःविषय मुद्देअंतःविषय सुरक्षा विश्लेषण और पोर्टफोलियो प्रबंधन
कंपनी लॉलागत प्रबंधन
बैंकिंग और बीमामात्रात्मक तकनीक और तरीके
लागत लेखांकनविपणन प्रबंधन
व्यापार गणित और सांख्यिकी 
अप्रत्यक्ष कर कानून 

बीकॉम सेकंड ईयर पास कर लेने के बाद बीकॉम के अंतिम वर्ष यानी की थर्ड ईयर में निम्नलिखित विषय होते  हैं:-

ADVERTISEMENT

बीकॉम तृतीया वर्ष विषय सूची

सेमेस्टर Vसेमेस्टर VI
प्रबंधन लेखांकनप्रत्यक्ष कर कानून
उत्पादन और संचालन प्रबंधनवित्तीय रिपोर्टिंग में मुद्दे
वित्तीय बाजार और सेवाएंआपरेशनल रिसर्च
आयकर कानूनवित्तीय प्रबंधन
भारतीय अर्थव्यवस्थासामाजिक और व्यावसायिक नैतिकता
उद्यमिता और लघु व्यवसायभारतीय अर्थव्यवस्था के क्षेत्रीय पहलू

ADVERTISEMENT

Commerce क्षेत्र में career

कॉमर्स stream चुनने के बाद student के पास करियर की बेहतरीन सम्भावनाएं  और विकल्प होती है। अगर छात्र banking sector में जाना चाहते है तो वे IBPS  द्वारा conduct की जाने वाली bank  परीक्षा में appear हो सकते है। Commerce sector में विभिन करियर इस प्रकार है :-

ADVERTISEMENT

  • इन्वेस्टमेंट बैंकर
  • चार्टर्ड अकाउंटेंट
  • सर्टिफाइड पब्लिक अकाउंटेंट
  • बिजनेस अकाउंटेंट और कराधान
  • मानव संसाधन प्रबंधन
  • चार्टर्ड फाइनेंशियल एनालिस्ट
  • रिटेल मैनेजर
  • कॉस्ट अकाउंटेंट
  • कंपनी सेक्रेट्री
  • उद्यमी
  • मुख्य कार्यकारी अधिकारी
  • शोध विश्लेषक
  • निजी वित्तीय सलाहकार

निष्कर्ष

दोस्तों, आज के इस लेख के जरिए आपने जाना की commerce mein kitne subjects hote hain हमें उम्मीद है कि इस लेख के द्वारा आपके मन में कॉमर्स सब्जेक्ट को जानने से संबंधित जो सवाल होंगे, उनका जवाब आपको मिल गया होगा।

ADVERTISEMENT

यह लेख आपके लिए मददगार साबित हुआ होगा। इस जानकारी को आप अपने दोस्तों के साथ भी अवश्य share करें। यदि इस लेख से संबंधित कोई भी प्रश्न आप हमसे पूछना चाहते हैं या फिर आपके मन में कोई सुझाव है तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं।

ADVERTISEMENT

FAQ

Q. 1 कॉमर्स स्ट्रीम में कुल कितने सब्जेक्ट पढ़ने पड़ते हैं?

Ans. आठ सब्जेक्ट

ADVERTISEMENT

Q. 2 कॉमर्स का क्या अर्थ होता है?

Ans. वाणिज्य या व्यवसाय। इसमें छात्रों को अर्थशास्त्र से संबंधित बारीकियां सिखाई जाती हैहै।

ADVERTISEMENT

Q. 3 कॉमर्स में कौन कौन से सब्जेक्ट पढ़ा जाता है?

Ans. कॉमर्स में पढ़ाए जाने वाले विषयों की सूची जानने के लिए ऊपर लेख को पढ़ें।

ADVERTISEMENT