adplus-dvertising

Password ko hindi me kya kahte hai (Password को हिंदी में क्या कहते है)

नमस्कार दोस्तों आपका हमारे पोस्ट पर स्वागत है जहा आज आपको Password ko hindi me kya kahte hai के बारे में बताने जा रहा हु जिससे की आपको पासवर्ड कर के बारे में सभी जानकारी अच्छे से मिल सके जिससे की आगे चल कर आपको कभी भी पासवर्ड के बारे में जानकारी लेने के लिए गूगल पर खोजना न पड़े।

सामान्य बोलचाल की भाषा में हम बहुत सारे अंग्रेजी शब्दों का इस्तेमाल जाने अनजाने में करते रहते हैं। उसी प्रकार Password भी एक ऐसा अंग्रेजी का शब्द है जिसका इस्तेमाल हम अनजाने में करते हैं। क्या आप जानते हैं कि Password ko hindi me kya kahte hai? यदि आप नहीं जानते तो कोई बात नहीं क्योंकि

आज के लेख में हम आपको Password ka hindi me meaning बताएंगे। इसके अलावा हम Password के बारे में आपको और भी कई हैरतअंगेज जानकारियां देंगे।तो चलिए शुरू करते हैं-

Password ko hindi me kya kahte hai?

Password ko hindi me kya kahte hai

Password का हिंदी में मतलब विभिन्न प्रकार के माध्यमों से अलग-अलग मिलता है, यानी कि यदि हम गूगल ट्रांसलेट का इस्तेमाल करते हैं तो Password का हिंदी में मतलब पासवर्ड ही मिलता है और एक तरीके से यह सही भी है। लेकिन Password ka hindi me matlab केवल पासवर्ड ही नहीं होता है, Password को हिंदी में और भी कई शब्दों के नाम से जाना जाता है।

Password का हिंदी में अर्थ जानने के लिए हम यह कर सकते हैं कि Password की उपयोगिता को हम हिंदी में समझने की कोशिश कर सकते हैं। पासवर्ड की उपयोगिता को हिंदी में समझने पर हमें यह पता चलता है कि Password एक ऐसे शब्द को कहा जाता है जिसमें ना तो शब्दों का वास्तविक मतलब पता होता है और अक्षर भी किसी न किसी रूप में छुपा दिए जाते हैं। एक तरीके से हमारे लिए समझ पाना असंभव हो जाता है कि पासवर्ड के पीछे मूल शब्द क्या है।

पासवर्ड के काम और इसकी उपयोगिता जानने के बाद अब हम पासवर्ड को हिंदी में रूपांतरित कर सकते है और हम Password के कुछ हिंदी शब्दों का नाम बता सकते हैं, जैसे कि Password को हिंदी में कूट शब्द, गुप्त शब्द, सांकेतिक शब्द, गूढ़ शब्द या फिर आगे बढ़ने के लिए गुप्त शब्द, का इस्तेमाल किया जा सकता है। यह सारे शब्द Password का हिंदी अर्थ होते हैं।

Password का मतलब क्या होता है ?

Password का मतलब समझने के लिए हमें Password की उपयोगिता विस्तार से समझनी होगी। Password का उपयोग इसलिए किया जाता है ताकि हम हमारे किसी मूल शब्द को किसी नकली शब्दों, संकेतों, अक्षरों तथा उपशब्दों के पीछे छुपा सके। हम यह अक्सर इसलिए करते हैं ताकि हमारे मूल शब्द के बारे में किसी को पता ना चल सके।

एक तरीके से Password का उपयोग हमारी जानकारी के प्रति आइडेंटिफिकेशन के सुरक्षा सम्बंधित कारणों की वजह से किया जाता है। Password का इस्तेमाल इसलिए किया जाता है ताकि हम हमारी किसी ऑनलाइन प्रोफाइल, बैंक अकाउंट, या किसी अन्य डिवाइस या फिर उपकरण और उसमे विदित जानकारी की सुरक्षा कर सकें।

Password लगाने के बाद केवल हम ही हमारे सुरक्षा उपकरणों, डिवाइस, तथा ऑनलाइन प्रोफाइल और बैंक अकाउंट को एक्सेस कर सकते है। इस उपयोगिता से हमें Password का मतलब समझ में आता है, और Password का मतलब यहां पर एक सुरक्षा शब्द से होता है। वह सुरक्षा शब्द जो किसी गुप्त जानकारी की सुरक्षा करने के लिए इस्तेमाल होता है, Password कहलाता है।

Password क्या काम आता है?

Password एक ऐसा सांकेतिक या गुप्त शब्द होता है, जिसका इस्तेमाल किसी गोपनीय जानकारी को सुरक्षित रखने में ही किया जाता है, और उस गोपनीय जानकारी का एक्सेस करने के लिए उसी Password का इस्तेमाल, उस जानकारी के मालिक के द्वारा किया जाता है। यह गुप्त जानकारी एक बैंक अकाउंट, इंटरनेट प्रोफाइल, सुरक्षा डिवाइस, घातक उपकरण की सुरक्षा, कम्युनिकेशन एडवांसमेंट हो सकती है।

एक तरीके से Password का इस्तेमाल व्यक्ति की आईडेंटिफिकेशन जानने के लिए भी किया जाता है। यानी कि Password के बारे में सभी लोगों को पता नहीं होता है, क्योंकि यह एक गुप्त जानकारी होती है, और इस गुप्त जानकारी का पता किसी एक या दो व्यक्ति को हो सकता है। इसके पश्चात जब किसी सुरक्षा उपकरण या गुप्त जानकारी को एक्सेस करना होता है, तब हम इस सुरक्षा शब्दावली का इस्तेमाल करते हैं।

Password की उपयोगिता को और अधिक अच्छे से और आसानी से समझने के लिए हम यह समझ सकते हैं कि Password का इस्तेमाल एक्सेस ऑथराइजेशन के लिए किया जाता है। Password इस बात का सबूत होता है कि जिस जानकारी को हम एक्सेस करना चाहते हैं उसकी अथॉरिटी हमारे पास में है।

Password की खोज कब की गई?

आज के समय जिस ******* टाइप के Password का इस्तेमाल करते हैं, वह Password सन 1960 में फर्नांडो कार्बेटो के द्वारा इन्वेंट किया गया था। एक मॉडर्न कंप्यूटर के लिए Password का इस्तेमाल सबसे पहले सन 1960 में ही किया गया था। जब डिजिटल इनफार्मेशन की सुरक्षा के लिए एक ऑथराइजेशन का मसला खड़ा हो गया था

तो उस दिक्कत को सुलझाने के लिए एक ऐसी सुरक्षा प्रणाली की खोज की गई, जिसके अंतर्गत कुछ गुप्त शब्दों के द्वारा ऑथराइजेशन को वेरीफाई किया जा सकता था।गुप्त शब्दों को गुप्त रखने के लिए Password मेथोडोलोजी की स्थापना की गई थी, यह Password Massachusetts Institute of Technology यानी कि MIT के अंतर्गत सन 1960 में खोजा गया था।

MIT के द्वारा सन 1960 में एक बहुत ही बड़ा कम्पेटिबल टाइम शेयरिंग सिस्टम डिवेलप किया गया था जिसे एक्सेस करने का हक केवल मुख्य रिसर्चर्स को ही था, और बिना अथॉरिटी के किसी भी अनजान शख्स को टाइम शेयरिंग सिस्टम को एक्सेस करने का अधिकारी नहीं था, और यह अधिकार सुरक्षित करने के लिए ही Password का इस्तेमाल किया गया था।

World Password Day कब होता है?

हर साल 7 मई को World Password Day पड़ता है और इस दिन लोगों को Password की भूमिका तथा इसकी जरूरत के बारे में बताया जाता है, तथा लोगों को Password की अहमियत के बारे में समझाया जाता है, और Password को लेकर और जागरूक किया जाता है। इसी के साथ लोगों में यह जागरूकता भी फैलाई जाती है कि उन्हें एक मजबूत Password का इस्तेमाल करना चाहिए, ताकि इस डिजिटल दुनिया में उनके Password के चोरी होने की संभावना बहुत कम रह जाए।

निष्कर्ष

आज के लेख में हमने जाना कि Password को हिंदी में क्या कहते हैं, इसी के साथ हमने Password से जुड़े कुछ अन्य मुख्य तथ्यों के बारे में भी आपको जानकारी दी है। हम आशा करते हैं कि आज का यह लेख आपके लिए काफी मददगार होगा, यदि आप कोई सवाल पूछना चाहते तो हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं।

Leave a Comment