Advertisement

Affiliate Marketing क्या है Affiliate Marketing और कैसे करे (Beginner’s Guide)

Advertisement
()
(Last Updated On: 2 September 2021)

Affiliate Marketing in Hindi – मैं आज इस आर्टिकल में आपको ‘Affiliate Marketing’ के बारे में पुरी जानकारी Step-By-Step बताऊंगा और यह ख़ास कर जो लोग नए है, उनको काफ़ी मदत करेगा। ज्यादातर लोग मानते हैं कि Passive Income एक मायावी सपना है। मतलब यह सपना कभी सच नहीं हो सकता। क्या होगा अगर मैंने आपसे कहा कि आप Affiliate Marketing के साथ इस सपने को सच कर सकते हैं तो चलिए जानते है आखिर Affiliate Marketing क्या है

लेकिन Affiliate Marketing के बारे विस्तृत में जानने से पहले, इसके कुछ बुनियादी बातों को जानना अत्यंत ज़रूरी है, जैसे Affiliate Marketing आख़िर है क्या, यह काम कैसे करता है आदि।

Advertisement

Affiliate Marketing क्या है ? ( What is Affiliate Marketing in Hindi )

Affiliate Marketing ऑनलाइन आय उत्पन्न करने के सबसे शक्तिशाली तरीकों में से एक है। यही कारण है कि मैंने Affiliate Marketing के बारे में सब कुछ समझाने के लिए यह मार्गदर्शिका बनाई है और आपको Full-Fledged Affiliate Marketer बनने के लिए फास्ट ट्रैक पर रखा है।

Affiliate Marketing क्या है What is Affiliate Marketing in Hindi

Affiliate Marketing की परिभाषा

Affiliate Marketing एक Sales Model है जिसमें एक कंपनी अपने उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए किसी व्यक्ति या कंपनी को कमीशन का भुगतान करती है। सरल शब्दों में, आप कंपनी के प्रतिनिधि बन जाते हैं।

Advertisement

आप कंपनी की product को बिक्री करने में मदद करते हैं और कंपनी आपको इसके लिए पुरस्कृत करती है।

चलिए एक उदाहरण से समझते है इसे…

मान लीजिए की आप एक Affiliate Marketer है और आपको Flipkart का एक प्रोडक्ट प्रमोट करना है, अगर आप प्रोडक्ट को प्रमोट करके sell करवाने में मदत करते है, तो Flipkart आपके द्वारा उस प्रोडक्ट की खरीद पर एक Commision आपको देगा।

प्रोडक्ट की प्रमोशन के लिए आपको एक प्रोडक्ट का लिंक दिया जाएगा, उस लिंक को आप अपने वेबसाइट, सोशल मीडिया एकाउंट्स आदि पर दे सकते है। अब अगर कोई उस लिंक को क्लिक करके प्रोडक्ट को खरीदता है, तब पूर्व निर्धारित कमिशन आपको कंपनी देंगी, जो की मुनाफे का एक हिस्सा होगा।

Advertisement

Affiliates विभिन्न Affiliate Marketing कार्यक्रमों के लिए साइन अप कर सकते हैं और उन सभी से कमीशन कमा सकते हैं। इसलिए यह बहुत ही आकर्षक है। संक्षेप में, Affiliates को एक Typical Sales Person के विपरीत कई अलग-अलग कंपनियों के उत्पादों को बढ़ावा देने की स्वतंत्रता है। Affiliate Marketing में जितना अधिक आप बेचते हैं, उतना ही आप कमाने वाले हैं।

Affiliate Marketing कैसे काम करता है

बहुत सारे लोगों के मन में एक और सवाल रहता है, की Affiliate Marketing काम कैसे करता है? तो आज मेरे इस आर्टिकल (Affiliate Marketing in Hindi) में अब जानते है यह कैसे काम करता है।

Affiliate Marketing के “Mechanics” को समझना वास्तव में सरल है। इसके शुरू में, Product के विक्रेता या व्यापारी एक Affiliate Program बनाता है और उस प्रोग्राम के कमीशन के प्रकार और दर (rate) को निर्दिष्ट करता है।

इसके बाद, प्रोडक्ट के Owner, प्रोडक्ट के एक Unique लिंक देता है प्रत्येक Affiliates को, तांकि प्रोडक्ट के Owner यह पता लगा सके की किसने कितना Sale’s किया।

Advertisement

यदि कोई Affiliate ब्लॉग, वेबसाइट, या सोशल मीडिया पर उस लिंक पर क्लिक करता है, तो उनके डिवाइस पर एक Cookie को Save की जाती है।

Affiliate Marketer क्यों करना चाहिए

अब जब आप जान गए हैं कि Affiliate Marketing क्या है और यह कैसे काम करता है, तो इसके फायदे का पता लगाने का समय आ गया है।

Advertisement

Convenience & flexibility

पहली बात जिस पर आपको विचार करने की आवश्यकता है, वह है affiliate marketing में आसानी। अर्थात इसे आप आसान कैसे बना सकते है।Affiliate Marketing में आपको customers को प्रोडक्ट के बारे में educate करना पड़ता है तथा प्रोडक्ट को बेचना होता है। इसमें आपको प्रोडक्ट को बनाना, स्टोर करके रखना तथा customer support देना आदि जैसे चीज़ों का झंझट नहीं है।

Advertisement

Affiliate marketing की संरचना कुछ इस प्रकार है कि जब आप विक्रेता को ग्राहक के साथ जोड़ते हैं तो आपकी काम समाप्त हो जाती है।इसमें यह अधिक है कि आप कंपनी के प्रतिबंध या नियमों से मुक्त हैं, क्योंकि आप व्यावहारिक रूप से एक freelancer हैं।

यह आपको इसकी अनुमति देता है:

  • अपने लक्ष्य को ख़ुद निर्धारित कर सकते है;
  • कितना देर आपको काम करना है, यह आप ख़ुद निर्णय ले सकते है।

Low Risk

अधिकांश affiliate marketing कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आप स्वतंत्र हैं, इसलिए आपको इसमें अपनी बचत डालने की चिंता करने की आवश्यकता नहीं है। इसके अलावा, कुछ marketing methods (जैसे ब्लॉगिंग, एसईओ) को चुनकर आप लागत को न्यूनतम रख सकते हैं। तो, आपका सबसे महत्त्वपूर्ण निवेश आपका समय होने वाला है!

Passive Income

Affiliate marketing आपको passive income की क्षमता प्रदान करता है, जिसके आधार पर आप अपने affiliate कार्यक्रमों की मार्केटिंग करते हैं। 76% affiliates को लगता है कि affiliate marketing revenue उत्पन्न करने की सरलता इस योजना का सबसे बड़ा लाभ है।

“Regular” नौकरी में आपको पैसा बनाने के लिए काम पर होना चाहिए। लेकिन यह affiliate marketing पर लागू नहीं होता है।

Work From Home:

Affiliate marketing का एक और लाभ घर से काम करने की क्षमता है। अर्थात आप अपने घर से काम कर सकते है। यदि आप रोजाना ऑफिस जाने से ऊबते हैं, तो यह एक आदर्श उपाय है। केवल एक चीज जो आपको चाहिए वह एक Stable Internet Connection है।

Performance Based Rewards:

यह “Regular” नौकरी और affiliate marketer के बीच एक और बड़ा अंतर है। Affiliate Marketing में आपका कमाई पुरी तरह आपके Performance के ऊपर निर्भर है। तो जितना अधिक आप Affiliate Marketing में “परिपक्व” होंगे, उतना ही अधिक आप कमाएंगे।

ईमानदारी से कहुँ तो, कौन अपनी मेहनत और समर्पण के लायक धनराशि का प्राप्त करना पसंद नहीं करता है?

Affiliate Marketer कैसे बनें

मेरे इस आर्टिकल (Affiliate Marketing in Hindi) में अब जानेंगे की Affiliate Marketer कैसे बनें। अभी तक तो मैंने इस आर्टिकल में जो बताए है, वह Affiliate Marketing का theoritical हिस्सा था। लेकिन अब, मैं आपको बताऊंगा step-by-step की कैसे आप एक सफल Affiliate Marketer बन सकते है।

1. एक प्लेटफार्म चुनें (Select a Platform)

आपकी affiliate marketing की यात्रा शुरू करने के लिए विभिन्न प्लेटफार्मों में से सबसे अच्छा platforms का चयन करें। पहला प्लेटफार्म है ब्लॉग। ब्लॉग आमतौर पर सस्ते होने के साथ ही आसान भी होते हैं।

Blog एक बोहोत ही पॉपुलर प्लेटफार्म है। क्योंकि आपको Blogging कैसे करना है, इससे जुडी अनेक जानकारी आपको वीडियो, आर्टिकल आदि में मिल जाएगा। यदि आप मुझसे पूछते हैं तो वे उन लोगों के लिए अनुकूल हैं जो Product Reviews,Comparisons आदि लिखना Professional तरीकों से चाहते हैं।एक बार जब आप अपना ब्लॉग शुरू करते हैं तो high rank करने के लिए अपनी Content को अनुकूलित (optimize) करना न भूलें।

एक और प्लेटफार्म Youtube है। एक Youtube चैनल का ultimate लाभ यह है कि आप मुफ्त में content बनाते हैं और अपलोड करते हैं। यह अधिकांश लोगों के लिए आदर्श है।

विवरण में अपने affiliate link शामिल करें और हमेशा SEO के लिए अपने वीडियो का अनुकूलन करें।अंतिम प्लेटफ़ॉर्म जिसका मैं उल्लेख कर रहा हूँ वह Instagram है। Instagram का अत्यधिक सक्रिय समुदाय आपको तेजी से बढ़ने और अधिक से अधिक लोगों को अपने लिंक को बढ़ावा देने की अनुमति देता है।

अब कुछ ऐसा है जिससे आपको सावधान रहने की ज़रूरत है। आप चाहे जिस भी प्लेटफ़ॉर्म का उपयोग कर रहे हैं, इस तथ्य का खुलासा करना सुनिश्चित करें कि आपके द्वारा प्रदान किए जा रहे लिंक Affiliate Links हैं।

2. अपना Niche चुनें:

अपना Niche चुनें, लेकिन यह जितना सुनने में आसान लगता है उतना आसान है नहीं। क्यों? प्रतियोगिता के कारण सफलता के लिए सबसे लोकप्रिय सलाह नीचे दी गई है।एक विशिष्ट श्रेणी पर ध्यान केंद्रित करने वाले विषय पर इसे सीमित करके, आप अधिक केंद्रित दर्शकों को आकर्षित कर सकते हैं।यह Search Engines में उच्च रैंकिंग करने में विशेष रूप से सहायक हो सकता है।

उदाहरण के लिए, “मार्केटिंग” का विषय चुनना बहुत व्यापक है। इसके जगह आप अगर “सोशल मीडिया मार्केटिंग” को चुनते है तो यह एक बेहतर विचार होगा जो अधिक विशिष्ट है।

यह सलाह ठोस है और यह निश्चित रूप से आपको सफल affiliate marketing में ले जा सकती है।मैं फिर भी सुझाव दूंगा कि एक और बात को ध्यान में रखें, खासकर यदि आप content बनाने वाले हैं।कुछ ऐसा चुनें जिसके बारे में आप passionate हों! विषय पर आपके जुनून और विशेषज्ञता दोनों का संयोजन निश्चित रूप से लोगों को उत्साहित करेगा।

3. किसी affiliate program को ढूँढें और उसमें शामिल हों (Find and join an Affiliate Program):

सामूहिक अपील के साथ कम भुगतान वाले कार्यक्रम: इसमें वैसे प्रोग्राम शामिल है जिसमें प्रोडक्ट का value कम हो, लेकिन उस प्रोडक्ट को लोग ज़्यादा ख़रीद ते है। जैसे Amazon, Flipkart आदि जैसे affiliate programs.

संभावित ग्राहकों के सीमित पूल के साथ उच्च-भुगतान कार्यक्रम: इसमें ऐसा प्रोडक्ट्स शामिल है जिसमें competition ज़्यादा है तथा customers कम है। जैसे Moosend affiliate program.

उच्च भुगतान और सामूहिक अपील वाले कार्यक्रम: इसमें प्रोडक्ट का डिमांड भी ज़्यादा है तथा प्रोडक्ट पर कमिशन भी ज़्यादा मिलता है। जैसे American Express affiliate program.

लेकिन मुझे ये सभी कार्यक्रम कहाँ मिल सकते हैं? उत्तर सीधा है। Google search में…या इससे भी बेहतर।

यहाँ सबसे लोकप्रिय Affiliate Marketing Programs की एक सूची है:

आप उन कंपनियों के लिए भी प्रयास कर सकते हैं, जिनके उत्पादों को आप बढ़ावा देना चाहते हैं, भले ही वे affiliate कार्यक्रम न हों।

4. Quality Content बनाएँ:

मेरे इस आर्टिकल (Affiliate Marketing in Hindi) में अब जानेंगे की quality content को कैसे बनाए या लिखे। Content बनाने के लिए विभिन्न प्रकार है, जिसमें सबसे लोकप्रिय हैं ब्लॉग और वीडियो।अब सवाल आता है की आपको कितनी Content की आवश्यकता है?

शुरुआत के लिए 5 गुणवत्ता वाले Content से आपका काम हो जाएगा।

अब content निर्माण के लिए सबसे अच्छा तरीक़ा यह सुनिश्चित करना है कि आपकी content आगंतुक (visitors) के समस्या का समाधान या हल करती है। आपको अपने affiliate links रखने की आवश्यकता होगी जहाँ वे अधिकतम प्रदर्शन प्राप्त करने की संभावना रखते हैं।

एक अच्छी रणनीति यह होगी कि आप अपनी कंटेंट में उन हिस्से में affiliate products को बढ़ावा दें, जहाँ आपके दर्शकों का ध्यान चरम पर है।यदि आप एक ब्लॉग पर लिख रहे हैं, तो आपको पोस्ट के पहले quarter में affiliate product को बढ़ावा देना चाहिए। वीडियो के लिए, पहले मिनट के भीतर इसे करना चाहिए।

5. ट्रैफ़िक generate करें और अपने दर्शकों का निर्माण करें:

आपने अपनी कंटेंट बिलकुल ठीक बनाई है। अब समय आ गया है कि लोग इसे देखें और अपने लिंक पर क्लिक करें।Traffic को आकर्षित करने के लिए कई रणनीतियाँ हैं।

  • Search Engine Optimization: उन विशिष्ट कीवर्ड को लक्षित करके, जिन्हें लोग खोज रहे हैं और उन विषयों के आसपास कंटेंट बनाने से आपको लगातार ट्रैफ़िक प्राप्त करने में मदद मिलेगी। ब्लॉग पोस्टिंग के रूप में, लिंक बिल्डिंग में हमेशा समय लगाएँ, उदाहरण के लिए, अपने सर्च इंजन रैंकिंग को बढ़ाने के लिए। अगली रणनीति इस सभी ट्रैफिक को बढ़ाने और बनाए रखने में मदद करती है।
  • एक ईमेल लिस्ट बनाएँ: ईमेल को आज तक के सबसे अच्छे मार्केटिंग चैनलों में से एक माना जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि यह आपको अपने दर्शकों तक पहुँचने के साथ-साथ स्मार्ट तरीके से उपयोग किए जाने पर अधिक समय के लिए वापस आने की अनुमति देता है। इसलिए मैंने इसे अपने आर्टिकल (Affiliate Marketing in Hindi in 2021) में एक अलग जगह दिए है।
  • पेड ट्रैफिक (Paid Traffic): एक बार आपका affiliate marketing व्यवसाय चल जाए, तो आप पे-पर-क्लिक (PPC) विज्ञापनों का उपयोग शुरू कर सकते हैं। बेशक, इस मॉडल में आपको केवल तब भुगतान करना होगा अगर कोई आपके विज्ञापन पर क्लिक करता है। हालांकि, यह गारंटी नहीं देता है कि आपका affiliate link पर लोग क्लिक करेंगे ही। हालाँकि, आपको सलाह दी जाती है कि यह एक अच्छा विचार नहीं है यदि आप पूरी तरह से नए हैं या इसे चलाने के लिए आपके पास कोई बजट नहीं है।

6. क्लिक को सेल्स में बदलें (Convert clicks into sales):

Affiliate marketer को भुगतान करने के लिए, दो रूपांतरण होने चाहिए। पहला है product के page पर क्लिक। यहाँ affiliate marketer का इस पर पूर्ण नियंत्रण है।

अन्य एक visitor द्वारा product की वास्तविक खरीद है। यहाँ दुर्भाग्य से केवल व्यापारी का ही इस पर नियंत्रण है इसलिए रूपांतरण दरों में आपके द्वारा हेरफेर नहीं किया जा सकता है। यही कारण है कि आपको affiliate programs के साथ व्यापारियों को खोजने की आवश्यकता है जो स्पष्ट रूप से अच्छी तरह से convert होते हैं। एहि कारण है कि मैंने मेरे इस आर्टिकल (Affiliate Marketing in Hindi) में इसे ख़ास जगह दिया है।

सबसे अच्छा Affiliate Program कैसे चुनें

ऑनलाइन बोहोत सारे Affiliate Program होने के कारण, लोगों को Best Affiliate Program चुनने में दिक़्क़त होती है। तब लोगों के मन में सवाल आता है कि सबसे अच्छा Affiliate Program कैसे चुनें?

चलिए अब मेरे इस आर्टिकल (Affiliate Marketing in Hindi) के माध्यम से आपका यह उलझन भी दुर करने में मदत करते है।

चाहे Affiliate Marketing एक वैकल्पिक Revenue Stream हो या आपकी आय का मुख्य स्रोत, Quality Affiliate Programs का चयन करना महत्त्वपूर्ण है। जाहिर है, नए Affiliate Marketers के 76% केवल Affiliate Marketing से पैसा बनाने में विफल रहते हैं क्योंकि वे ग़लत उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए चुनते हैं।

चिंता नहीं करें। निम्नलिखित पंक्तियों में, मैं कुछ प्रमुख कारक प्रस्तुत करूँगा जो आपको (और निश्चित रूप से आपके दर्शकों के लिए) सर्वश्रेष्ठ affiliate programs की पहचान करने में मदद करते हैं!

  • कमीशन की राशि: यह शायद हर शुरुआती Affiliate Marketer दिमाग़ में सबसे महत्त्वपूर्ण कारक है। और क्यों नहीं करना चाहिए? एक कार्यक्रम जितना अधिक भुगतान करता है, आपके लिए बेहतर है।
  • कमीशन का प्रकार: 2 प्रकार के कमीशन हैं, flat और recurring. Flat कमीशन मॉडल में, कंपनी आपको बिक्री के लिए एक बार भुगतान करती है। यह मॉडल physical products के लिए अधिक सामान्य है। उत्पाद के मूल्य के 10% से 100% तक दरें भिन्न हो सकती हैं।
  • Recurring आयोगों में, चीजें थोड़ी भिन्न होती हैं। जब भी कोई ग्राहक उत्पाद का उपयोग करता है या अपनी सदस्यता को renew करता है, तो आप कमीशन कमाते हैं। तो मोटे तौर पर, आप Recurring भुगतान प्राप्त करते हैं।
  • Niche प्रासंगिकता: क्या उत्पाद या सेवा आपके दर्शकों के लिए प्रासंगिक है? क्या यह उनकी किसी समस्या का समाधान करता है? या आप इसे केवल इसके उच्च-आयोगों के कारण बेच रहे हैं? मुझे उम्मीद है कि आपके ब्लॉग या चैनल का सबसे महत्त्वपूर्ण हिस्सा दर्शक हैं। उनके बिना, कोई बिक्री नहीं हो सकती है और न ही कोई affiliate कमिशन हो सकती है।

Last Words –

मैंने मेरे इस आर्टिकल (Affiliate Marketing Kya Hai) में आपको पुरी विस्तृत में Affiliate Marketing के बारे में बताने का कोशिश किया है और मुझे पुरी उम्मीद है कि आपको मेरा यह आर्टिकल पसंद आया होगा। इस आर्टिकल को दूसरों के साथ भी शेयर कीजिए तांकि अन्य लोगों को भी मेरा यह आर्टिकल पढ़ के Affiliate Marketing के बारे में जानकारी ले सकें। आपका कोई सुझाव हो तो नीचे कमेंट करके मुझे बताए।

अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आयी तो स्टार देकर रेटिंग दे

Average rating / 5. Vote count:

No votes so far! Be the first to rate this post.

Advertisement

Leave a Comment

Advertisement